खास आपके लिए

[latest][slideshow]

"The Last Hour" रहस्य और रोमांच के बीच भटकती कहानी

मरने के बाद हम कहां जाते हैं.. आपमें से शायद ही किसी को पता हो.. लेकिन "The Last Hour" में आप देखेंगे कि मरने के बाद एक फरिश्ता आता है.. और वो हमें दूसरी दुनिया में जाने का रास्ता दिखाता है.. 

"The Last Hour" रहस्य और रोमांच

बस और क्या चाहिए हमारी देसी जनता को.. ऐसी अलौकिक चीजें तो बहुत इंटरेस्ट के साथ देखते हैं हम.. एकता कपूर के सीरियल 'नागिन' के कई सीक्वल की सफलता इस बात का गवाह है.. दर्शकों के इसी टेस्ट को भुनाने के लिए ओटीटी प्लेटफॉर्म अमेजन प्राइम वीडियो पर एक वेब सीरीज रिलीज हुई है, जिसका नाम है 'द लास्ट ऑवर' (The Last Hour Web Series). यह एक क्राइम थ्रिलर वेब सीरीज है, जो सुपरनेचुरल बैकग्राउंड पर आधारित है.


The Last Hour में संजय कपूर, करमा तकापा, शायली क्रिशेन, रॉबिन तमांग, मंदाकिनी गोस्वामी, शहाना गोस्वामी और राइमा सेन जैसे कलाकार मुख्य भूमिका में हैं..


वेब सीरीज 'द लास्ट ऑवर' की कहानी भारत और नेपाल में पाए जाने वाले एक शामन या झाखरी के इर्द-गिर्द घूमती है. शामन/झाखरी जैसे लोगों को नॉर्थ इंडिया में तांत्रिक, ओझा या सोखा भी कहा जाता है. ऐसा माना जाता है कि ऐसे लोगों के पास सुपरनेचुरल पावर होती है, जिसके जरिए वो कुछ भी कर सकते हैं. इस सीरीज में दिखाया गया है कि एक झाखरी कैसे मृतकों की आत्मा से बात कर सकता है. उनकी जिंदगी की आखिरी एक घंटे की कहानी पता कर सकता है. 


ये कहानी तांत्रिकों के बीच अपनी परंपरा को लेकर भी है.. किसके पास कौन सी विद्या रहेगी और उसका उपयोग वो कैसे करेगा, इस वर्चस्व को भी दिखाया गया है. इस वेब सीरीज में रहस्य और रोमांच के बीच नार्थ-ईस्ट की खूबसूरत वादियां भी दिखाई देंगी आपको..


The Last Hour के लीड रोल को स्थानीय कलाकारों ने ही निभाया है.. जो इसमें चार-चांद लगा देते हैं.. सिक्कीम का एक छोटा कस्बा 'मंगचेन', जहां मुंबई पुलिस के अफसर अरूप (संजय कपूर) अपने ट्रांसफर के बाद आते है. पहाड़ अपनी शांति के लिए जाना जाता है. लेकिन अचानक यहां लोगों की हत्याएं शुरू हो जाती हैं. पुलिस अफसर अरूप को मर्डर केस की जांच सौंपी जाती है. इसी बीच उसकी मुलाकात देव (करमा तकापा) से होती है, जो एक तांत्रिक है. 


शुरुआत में तो अरूप देव की आध्यात्मिक शक्तियों को खारिज कर देता है, लेकिन जल्द ही उसे इस बात का एहसास हो जाता है कि देव उसकी मदद कर सकता है.


इसके बाद देव और अरूप हत्यारे और उसके साथी को पकड़ने के लिए हाथ मिलाते हैं. पुलिस इंस्पेक्टर लिपिका (शहाना गोस्वामी) केस में अरूप को असिस्ट करती हैं. देव और लिपिका के सहयोग से अरूप केस सॉल्व करने लगता है. इसी बीच अरूप की बेटी परी (शायली क्रिशेन) और देव तथा अरुप और लिपिका के बीच लव एंगल भी दिखाया जाता है. परी अपनी मां (राइमा सेन) से बहुत प्यार करती थी. वह उसकी मौत का सच जानना चाहती थी, जिसे उसने मुंबई में ही खो दिया था. 


इस तरह कई ट्विस्ट एंड टर्न्स के साथ ये वेब सीरीज आगे बढ़ती है. और आप क्या चाहते हैं.. कि मैं सारा बखान यहीं कर दूं.. नहीं देखी तो जाकर देखिए.. क्योंंकि देव की मदद से अरूप मर्डर केस सॉल्व कर पाता है या नहीं? अरूप की बेटी परी अपनी मां की मौत का सच जान पाती है या नहीं? इन सवालों के जवाब जानने के लिए तो आपको वेब सीरीज देखनी पड़ेगी..


निर्देशक अमित कुमार ने लेखक अनुपमा मिंज के साथ मिलकर इसकी कहानी लिखी है.. लेकिन शुरू से अंत ऐसा लगता ही नहीं है कि निर्देशक भी कहानी लिखने में शामिल रहे हैं.. क्योंकि कहानी और पटकथा पर ढ़ीली पकड़ इस वेब सीरीज की सबसे बड़ी कमजोरी है.. पहले एपिसोड से रहस्य और रोमांच पैदा करने में कामयाब निर्देशक एपिसोड-दर-एपिसोड इसकी रफ्तार खोता जाता है.. 

No comments:

Please do not enter any spam link in the comment

People's Corner

[people][stack]

Travel corner

[travel][grids]

Movie Corner

[movie][btop]

Instagram Feed