खास आपके लिए

[latest][slideshow]

TVF की 'ASPIRANTS' देखिए.. 'प्री और मेन्स' तो नहीं लेकिन ज़िन्दगी के इम्तेहान कैसे क्लियर करने हैं इसका हल मिल सकता है..

जब भी OTT पर लो बजट में हाई क्वालिटी कंटेंट की बात होती है.. तब TVF का नाम ज़रूर लिया जाता है...

TVF की 'ASPIRANTS' देखिए.. 'प्री और मेन्स' तो नहीं लेकिन ज़िन्दगी के इम्तेहान कैसे क्लियर करने हैं इसका हल मिल सकता है..

TVF यानी The Viral fever ऐसे कंटेंट लेकर आता है.. जो आपको आपसे जोड़ते है.. उनकी कहानियों से आप खुद को जोड़ पाते हैं.. कभी-कभी इनकी कहानी के बीच में ऐसा एक सीन भी आ जाता है जो आपने खुद जिया होता है.. अब सोचिए.. आपके जिए हुए पल को कोई आपके सामने पर्दे पर उतार के रख दे.. मजा ही आ जाएगा न.. TVF की एक और वेब सीरीज आजकल चर्चा में है.. इस कहानी की सबसे बड़ी ख़ूबी ये है कि इससे हर दूसरा स्टूडेंट और हर तीसरा आदमी कनेक्ट हो सकता है..


मात्र 5 एपिसोड की "एस्पिरेंट्स" सीरीज का आख़िरी एपिसोड अभी हाल ही में यूट्यूब पर देखा गया है... कहानी आईएस अधिकारी अभिलाष (नवीन कस्तूरिया) से शुरु होती है जो दिल्ली बस अड्डे पर बोतल को किस तरह से फेंकना चाहिए, ये आम लोगों को बता रहा है.. और अगले ही सीन में श्वेतकेतु यानी एसके सर (अभिलाष थपलियाल) अपनी अकादमी के नये भर्ती छात्रों को UPSC क्लियर करने के गुर सिखा रहे हैं..


फिर यहां तीसरे लड़के गुरी उर्फ़ गुरप्रीत (शिवांकित सिंह परिहार) की एंट्री होती है जो शादी करने वाला है.. फ़्लैशबैक 2012 में ये तीनों बहुत अच्छे दोस्त होते हैं, तीनों UPSC की तैयारी कर रहे होते हैं और तीन में से दो का, अभिलाष और श्वेतकेतु का ये आख़िरी अटेम्प्ट होता है. अब इन पांच में से चार एपिसोड में इन तीनों (ख़ासकर अभिलाष) की ज़िन्दगी के प्रति एप्रोच, लेडी लक, बैकअप को लेकर स्ट्रगल और फेलियर्स और आपसी झगड़े की कहानी बयां होती है..


डायरेक्शन और स्क्रीनप्ले की बात करें तो इसमें क्रिएटर/लेखक अरुणभ कुमार, श्रेयांश पांडे और दीपेश हैं, वहीं डायरेक्शन अपूर्व सिंह कर्की ने किया है.. अपूर्व काफी समय से TVF से जुड़े हुए हैं. उनका डायरेक्शन बेजोड़ है. स्क्रीनप्ले बहुत काफी अच्छा है.. लव स्टोरी वाला एंगल अच्छा डायरेक्ट तो हुआ ही है, साथ बैकग्राउंड में ‘हमने तुमको देखा, तुमने हमको...’ भी बहुत परफेक्ट बैठता है.फिर आधार कार्ड योजना का मनमोहन सरकार में ज़िक्र करना कहानी को और रेअस्लिस्टिक बनाता है.


एक्टिंग की बात करूं तो नवीन पहले भी TVF पिचर्स में अपनी एक्टिंग का जलवा दिखा चुके हैं. अभिलाष ने भी माहौल बनाए रखा.. उनके सारे डायलॉग हंसने और सोचने के लिए एक साथ मजबूर कर देते हैं.. शिवांकित अपने करैक्टर में जमे हैं. चाय टपरी पर उनकी मोटिवेशनल स्पीच बढ़िया है. नमिता दुबे भी अच्छी लगी हैं, कुलजीत सिंह तो ज़बरदस्त कलाकार हैं ही, नोटिस हुए बगैर रह ही नहीं सकते हैं. नीतू झांझी ने भी एक सीन में बाजी मारी है. साथ ही सनी हिंदुजा इस सीरीज के श्रीकृष्ण हैं. हर एपिसोड में उनकी ज़रा सी प्रेजेंस भी जान डालने वाली साबित होती है..


कुलमिलाकर एस्पिरेंट्स में आपको स्टूडेंट लाइफ से जुड़ी फाइनेंशियल तकलीफ छोड़कर हर समस्या मिल जायेगी. कुछ एक के समाधान भी मिल जायेंगे. ज़िन्दगी के प्रति नज़रिया चेंज होने के भी चांसेज़ हैं. ज़िन्दगी के इम्तेहान में कैसे पास होना है, इसका हल शायद इस सीरीज में मिल सकता है.

1 comment:

Please do not enter any spam link in the comment

People's Corner

[people][stack]

Travel corner

[travel][grids]

Movie Corner

[movie][btop]

Instagram Feed