खास आपके लिए

[latest][slideshow]

"मीडिया" न हुई "मजाक" बन के रह गई..

"मीडिया" न हुई "मजाक" बन के रह गई..

वैसे तो मै खुद मीडिया से हूं.. लेकिन अब जब मीडिया की हरकते देखती हूं तो झल्ला उठती हूं.. सोचती हूं क्या सोचकर मीडिया में आई थी.. और खासकर अब जब कोरोना काल में देश तमाम चीजों से जूझ रहा है.. उन सब को परे कर देश की जनता को किसी ने अगर सबसे ज्यादा त्रस्त किया है.. तो वो है मीडिया..

मेरे कई दोस्तों को हो सकता है मेरी बात बुरी लगे.. क्योंकि वो बेचारे जी-जान लगाकर मीडिया संस्थानों में काम कर रहे हैं.. लेकिन अगर मैं ये कहूं कि वर्तमान समय में मीडिया एक मजाक से ज्यादा कुछ नहीं है.. तो इसमें कुछ गलत नहीं है.. मतलब एक ही टॉपिक को घिस-घिस के उसकी रेड पीट देना.. और केवल उन ख़बरों को दिखाना जिनका वाक़ई कोई औचित्य नहीं है.. किसी एक व्यक्ति पर खुन्नस निकालने के लिए उसके पीछे पड़ जाना.. और वगैरह-वगैरह..


और अब तो इनको आइना भी दिखा दिया गया है.. अरे वीडियो तो देखा ही होगा कॉमेडी वाला.. वही जो कुछ दिन से वायरल हुआ है वीडियो.. जिसमें मीडिया की जमकर खिल्ली उड़ाई गई है.. मतलब जो आजकल होता है हमारे न्यूज चैनल के न्यूज रूम में.. वही सब दिखाकर दर्शकों को आकर्षित कर लिया.. और सही भी है.. किसी न्यूज चैनल के न्यूज रूम में हो रही कॉमेडी को देखने से अच्छा है रियल कॉमेडियंस कि ये नये किस्म की कॉमेडी देख ली जाए.. सही कहा  न?

मतलब देखिए.. जिस तरह से न्यूज चैनल्स वालों में टीआरपी की होड़ लगी रहती है.. सारे ही अपने नए-नए तरीके खोज रहे टीआरपी के चक्कर में.. ऐसे में बाजी मार ली कॉमेडियंस वाले न्यूज चैनल ने.. और वो भी न्यूज चैनल को ही जरिया बनाकर.. अच्छा-खासा वायरल भी हो गए भाईसाब... दशकों से चल रहे इस सिस्टम में पहली बार चौकाने वाला तत्थ सामने आया.. पिछले हफ्ते की टीआरपी रिपोर्ट्स की माने तो न्यूज चैनल्स की पोजीशन नंबर दो से शुरू हुई.. क्योंकि नंबर वन पर नए किस्म की कॉमेडी करने वाले एक चैनल ने फिलहाल कब्ज़ा जमा लिया..


इसे इसलिए भी पसंद किया गया था पहले क्योंकि कोरोना के इस दौर में कई तरह की बंदिशों से मानसिक निजात की उम्मीद लगाए लोग कुछ इसी तरह की कॉमेडी को देखना चाहते थे.. और इस चैनल में कामेडी तो थी ही.. डॉयलॉग्स भी जबरदस्त सेम टू सेम.. उछलना-कूदना, चीखना-चिल्लाना, गालियां, ड्रामा, ओवर एक्टिंग.. मतलब वो सारे रस थे जो हमारे न्यूज रूम में होते है आजकल.. तो कुल मिलाकर मजेदार तो था..


अभी तो ये वक्त भी बुरा चल रहा है.. फिल्म इंडस्ट्री भी बुरे दौर से ग़ुज़र रही है.. बॉलीवुड भी अपनी उलटी गिनती गिनने लगा है.. मनोरंजन के लाले पड़े थे.. और फिर आया ये कॉमेडी शो.. मतलब तमाम वजहों से कलाकार कथित पत्रकार बन कर कथित न्यूज चैनलों पर कॉमेडी और ड्रामेबाजी करने लगा. चलो.. किसी के लिए ही सही लेकिन ये बदलाव छोटे से वक्त के लिए अच्छा है..

No comments:

Please do not enter any spam link in the comment

People's Corner

[people][stack]

Travel corner

[travel][grids]

Movie Corner

[movie][btop]

Instagram Feed