खास आपके लिए

[latest][slideshow]

इधर "अमित शाह" कोरोना पॉजिटिव हुए.. और उधर "आलोचक" मानसिक बीमार

कितना अजीब है न.. कोरोना वायरस पॉजिटिव तो अमित शाह हुए हैं.. लेकिन मानसिक बीमारी आलोचकों को हुई है..

इधर "अमित शाह" कोरोना पॉजिटिव हुए.. और उधर "आलोचक" मानसिक बीमार
आप हो सकता है सहमत न हों मेरी इस बात से.. लेकिन सच यही है.. इस खबर को सुनने के बाद जैसे रिएक्शन सोशल मीडिया पर आ रहे हैं.. उससे साफ है कि आलोचना में आत्म मुग्ध इंसान नीचता की पराकाष्ठा के भी आखिरी सिरे तक आ गया है.. भला-बुरा.. अच्छा-खराब.. सब समझने की छमता मर चुकी है.. और मानसिक बीमारी सर चढ़ के बोल रही है..

हमारे बुजुर्ग सिखाते थे कि जब किसी इंसान.. चाहे वो हमारा दुश्मन क्यों न हो.. स्वास्थ्य उसका साथ न दे रहा हो.. तब उसके लिए मन में दुर्भावना नहीं रखनी चाहिए.. लेकिन अब का आदमी आलोचना या दुश्मनी के नाम पर बहुत नीचे गिर जाता है.. और कहते हैं कलयुग यही है.. 


केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह कोरोना पॉजिटिव हुए हैं..  और इलाज के लिए गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती हुए हैं.. ये बात खुद अमित शाह ने ट्वीट कर के बताई है.. 

इधर "अमित शाह" कोरोना पॉजिटिव हुए.. और उधर "आलोचक" मानसिक बीमार


और जैसे ही ये ट्वीट सामने आया.. कि शाह कोरोना पॉजिटिव हैं.. इस खबर के बाहर निकलने भर की देर थी.. आलोचकों और विरोधियों की ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा.. आलोचना के नाम पर लोगों ने भौंडेपन की इंतेहा पार कर दी.. और वो तमाम बातें हुईं जिनको सुनकर एक बार तो मन में ये सवाल आया कि कोई आखिर कैसे इतना नीचे गिर सकता है.. जिस तरह का माहौल सोशल मीडिया का था वो वाक़ई विचलित करने वाला था.. कुछ लोग तो शाह के जल्दी ऊपर जाने की प्रार्थना तक करने लगे.. मतसब सच में.. नीचे कुछ ट्वीट के स्क्रीनशॉट्स हैं.. जरा देखिए.. और समझिए.. 

चलिए शुरुआत कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह से करते हैं.. भले ही शाह और सिंह की राजनीतिक विचारधारा और राजनीतिक दल अलग-अलग हों लेकिन जो बात दोनों को एक करती है वो है इन दोनों ही नेताओं का इंसान होना.. किसी की बीमारी पर इंसानियत ये बिल्कुल नहीं कहती कि किसी का उपहास किया जाए.. दिग्विजय सिंह ने अयोध्या में भव्य राम मंदिर के लिए होने वाले भूमि पूजन को हथियार बनाया है और एक के बाद एक ट्वीट कर कहा है कि चूंकि भूमि पूजन अशुभ महूर्त में हो रहा है.. इसलिए एक के बाद एक भाजपा के शीर्ष पर बैठे लोग कोरोना की चपेट में आ रहे हैं और कुछ की तो मौत भी हुई है.. आप खुद देखिए..

इधर "अमित शाह" कोरोना पॉजिटिव हुए.. और उधर "आलोचक" मानसिक बीमार
इधर "अमित शाह" कोरोना पॉजिटिव हुए.. और उधर "आलोचक" मानसिक बीमार


बात शाह की बीमारी पर भद्दे ट्वीट्स करने वालों की हुई है तो आइए कुछ और ट्वीट्स पर नजर डालिए.. और समझने की कोशिश करें कि आखिर लोगों का स्तर क्या है.

इधर "अमित शाह" कोरोना पॉजिटिव हुए.. और उधर "आलोचक" मानसिक बीमार
इधर "अमित शाह" कोरोना पॉजिटिव हुए.. और उधर "आलोचक" मानसिक बीमार


इधर "अमित शाह" कोरोना पॉजिटिव हुए.. और उधर "आलोचक" मानसिक बीमार


इधर "अमित शाह" कोरोना पॉजिटिव हुए.. और उधर "आलोचक" मानसिक बीमारइधर "अमित शाह" कोरोना पॉजिटिव हुए.. और उधर "आलोचक" मानसिक बीमार

ट्वीट्स और भी है.. यूजर्स अमित शाह को अस्पताल के खाने पर भी तंज कस रहे हैं.. नफरत की सीमा देखिए.. लोग कह रहे हैं कि इन्होने लोगों को खूब सताया है और इसकी सजा इन्हें मिलनी ही चाहिए.. शाह के मेदांता जाने के लिए उन्हें ट्रोल कर रहे हैं.. वो इसलिए भी सही नहीं है क्योंकि इंसानियत हमें ये सन्देश बिलकुल नहीं देती. बात सीधी और एकदम साफ़ है अगर हम किसी के लिए दुआ नहीं कर सकते तो हमें ये भी अधिकार नहीं है कि हम कुछ ऐसा कह जाएं जोकि इंसान और मानवता को शर्मसार करे...

और अब सुनिए.. ये सोच मेरी है.. क्योंकि मेरा धर्म-मजहब और परवरिश मुझे यही सिखाती है.. अमित शाह कोई मेरे मौसा नहीं लगते जो मैंने ये सब लिखा.. बाकि अगर मेरे इस लेख से सहमत नहीं हैं.. तो यहा जहर उगलने की कोई जरूरत नहीं है.. कहीं और कमेंट करके अपनी परवरिश का परिचय दीजिएगा.. 

No comments:

Please do not enter any spam link in the comment

People's Corner

[people][stack]

Travel corner

[travel][grids]

Movie Corner

[movie][btop]

Instagram Feed